मुंशी प्रेमचंद की सर्वाधिक लोकप्रिय पुस्तकें

हम मुंशी प्रेमचंद की 8 सबसे लोकप्रिय किताबों के बारे में पढ़ने जा रहे हैं।

गोदान

गोदान (द गिफ्ट ऑफ ए काउ) 1936 में प्रकाशित मुंशी प्रेमचंद का एक हिंदी उपन्यास है। इसे उनकी सबसे बड़ी कृतियों में से एक माना जाता है और यह हिंदी साहित्य में एक मील का पत्थर है।

रंगभूमि

रंगभूमि (युद्धभूमि) औपनिवेशिक शासन के तहत कृषि और किसान समाज के विनाश को ग्राफिक रूप से चित्रित करती है।

गबन

1931 में प्रकाशित गबन एक आकर्षक लेकिन नैतिक रूप से कमजोर युवक रामनाथ की कहानी कहता है। अपनी पत्नी जालपा की गहनों के प्रति अत्यधिक लालसा को पूरा करने के लिए।

प्रतिज्ञा

अमृतराय बनारस में रहती हैं। पेशे से ये एक वकील हैं, हालांकि वकालत से ज्यादा इन्हें समाज सेवा पसंद है। उनका विवाह शहर के एक प्रसिद्ध व्यक्ति लाला बद्री प्रसाद की पहली बेटी से हुआ है।

निर्मला

1927 में प्रकाशित उपन्यास निर्मला एक युवा लड़की निर्मला पर केंद्रित है जिसे अपने से 20 साल बड़े एक विधुर से शादी करने के लिए मजबूर किया गया था।

सेवासदन

सेवासदन विवाह, कामुकता और वेश्यावृत्ति के विषयों को शामिल करता है। उपन्यास धार्मिक और राजनीतिक बहस पर एक साहसिक बयान है।

कर्मभूमि

कहानी कर्मभूमि के काल्पनिक शहर में स्थापित है, जहां मुख्य पात्र, सरयू, एक किसान है जो शोषणकारी प्रथाओं के कारण जीवन यापन करने के लिए संघर्ष कर रहा है।

बड़े भाई साहब

दो भाइयों की कहानी, झुमरी और झूमर। बड़े भाई झुमरी एक सफल व्यवसायी हैं जबकि झूमर एक संघर्षरत लेखक हैं।