कृष्ण की महाकाव्य लड़ाई: हिंदू पौराणिक कथाओं में वीरता और सदाचार

कृष्ण की महाकाव्य लड़ाई: हिंदू पौराणिक कथाओं में वीरता और सदाचार

कृष्ण, हिंदू पौराणिक कथाओं में एक महत्वपूर्ण व्यक्ति, न केवल एक दिव्य इकाई के रूप में बल्कि वीरता और ज्ञान के प्रतीक के रूप में भी पूजनीय हैं।

जन्म और कंस का प्रकोप

जन्म और कंस का प्रकोप

हिंदू पौराणिक कथाओं में एक प्रमुख व्यक्ति कृष्ण का जन्म चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में हुआ था।

राक्षसों का नाश

राक्षसों का नाश

बचपन में, वृन्दावन गाँव में रहने वाले कृष्ण को अपने चाचा राजा कंस द्वारा भेजे गए कई राक्षसों का सामना करना पड़ा।

कालिया का वध

कालिया का वध

कृष्ण की यमुना नदी में कालिया नाग से मुठभेड़ उनके बचपन की एक उल्लेखनीय कहानी है।

महाभारत और पांडव

महाभारत और पांडव

महाभारत की महाकाव्य कहानी में, कृष्ण ने विशेष रूप से पांडवों का मार्गदर्शन करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

शिशुपाल का वध

शिशुपाल का वध

कृष्ण का चचेरा भाई शिशुपाल, कृष्ण के प्रति गहरी नफरत के लिए जाना जाता था।

नरकासुर का विनाश

नरकासुर का विनाश

राक्षस नरकासुर पर कृष्ण की पराजय एक रक्षक और उद्धारकर्ता के रूप में उनकी भूमिका को उजागर करने वाली एक महत्वपूर्ण कहानी है।

जरासंध से युद्ध

जरासंध से युद्ध

मगध के शक्तिशाली राजा जरासंध के साथ कृष्ण की मुठभेड़ सीधे युद्ध के बजाय उनकी रणनीति के लिए उल्लेखनीय है।